Friday, December 19, 2008

पढ़े विकिपीडिया अब अपने मोबाइल पर

विकिपीडिया के पाठकों के लिए खुशखबरी! अब आप सूचना या जानकारी जो विकिपीडिया के वेबसाइट से चाहते है उसे अब अपने मोबाइल से भी ढूंढ औए पढ़ सकतें है। विकिपीडिया ने अपने मोबाइल संस्करण को शुरू कर दिया है। विकिपीडिया को मोबाइल पर पढने के लिए आप अपने जी पी आर एस युक्त मोबाइल से mobile.wikipedia.org पर जा कर पढ़ सकते है व अपनी पसंद की जानकारी ढूंढ सकतें है। वेकिपेडिया ने इस मोबाइल वेबसाइट में ग्राफिक्स का बिल्कुल उपयोग नही किया है जिससे की वेब पेज तेजी से खुल सकतें है और आपको ज्यादा बाइट्स डाउनलोड नही करनी पड़ेगी। इस वेबसाइट को साधारण वैप युक्त मोबाइल से भी देखा जा सकता है।

अपने इन्टरनेट एक्स्प्लोरर को सुरक्षित करें

यदि आपने अपने इन्टरनेट एक्स्प्लोरर का सिक्यूरिटी अपडेट बंद कर रखा है तो उसे चालु कर के उसे अपडेट कर ले। क्यूंकि इन्टरनेट एक्स्प्लोरर के करीब दो मिलियन उपभोक्ताओं को इन्टरनेट एक्स्प्लोरर कि कमी कि वजह से वायरस के आक्रमण का शिकार होना पड़ा है। यही नही इसकी वजह से करीब दस हज़ार वेब साईट भी संक्रमित हुए है।

बी बी सी कि एक वेबसाइट के हवाले से यह बताया गया है कि इन्टरनेट एक्स्प्लोरर मे कमी कि वजह से अपराधियों ने उपभोक्ताओं को संक्रमित वेब साइटों कि तरफ़ मोड़ दिया गया था और उससे उनके कम्प्यूटर भी संक्रमित हो गए। इसी सम्बन्ध मे माइक्रोसॉफ्ट ने हाल ही मे इन्टरनेट एक्स्प्लोरर का एक पैच निकाला है जिसकी मदद से उपभोक्ता अपने कम्प्यूटर को सुरक्षित कर सकतें है।

माइक्रोसॉफ्ट के क्रिस्टोफर बड ने सभी इन्टरनेट एक्स्प्लोरर के उपभोक्ताओं को सलाह दी है कि वे अपने IE को जल्द से जल्द अपडेट कर लें। इन्टरनेट एक्स्प्लोरर ७ के उपभोक्ता ही इस कमी से सबसे ज़्यादा प्रभावित हुए है। अतः सभी उपभोक्ताओं के हित मे है कि आजकल के अपराधिक गतिविधियों से बचने के लिए व वायरस के आक्रमण, व् फिशिंग से बचने के लिए ये पैच डाउनलोड या अपडेट कर ले। मेरी सलाह से इन्टरनेट एक्स्प्लोरर से ज़्यादा सुरक्षित मोजिल्ला फिरेफोक्स है। बाकी आपकी जैसी मर्ज़ी...

Tuesday, December 16, 2008

छटनी कर्मिओं को कुछ तो रहत मिली

केन्द्र सरकार ने कल मंदी के दौर मे छटनी के शिकार कर्मचारिओं को राहत के तौर पर जो एलान किया वो कुछ हद तकअच्छी ख़बर है । कल केन्द्र सरकार ने एलान किया है कि जो कर्मचारी कम से कम पाँच साल तक काम किया हो उन कर्मचारिओं को राजीव गाँधी श्रम कल्याण योजना के तहत छः महीने तक आधे औसत वेतन के बराबर बेरोजगारी भत्ता दिया जाएगा । श्रम मंत्री ओस्कर फर्नांडिस के अनुसार इसके तहत वे कर्मचारी भी बेरोजगारी भत्ता पाने के हकदार होंगे जो ई एस आई योजना मे कम से कम पाँच साल से सदस हों।

मंदी के इस भीषण दौर मे यह ख़बर कुछ तो राहत देती है लेकिन सरकार को अभी यह भी देखना है कि रोजगार सृजन की दिशा मे क्या महत्वपूर्ण कदम उठाये जा सकतें है। जिससे बेरोजगारी की समस्या और भयावह ना हो जाए। यह मंदी का दौर देखे अभी क्या क्या दिखाती है?

Friday, November 21, 2008

गूगल की अधिकारिक SEO गाइड डाउनलोड करें

यदि आपने नया ब्लॉग बनाया है या आपके ब्लॉग को पढने कोई नही आता है तो गूले ने ऐसे ब्लॉग और साइट्स के लिए एक ई-पुस्तक प्रस्तुत की है. गूगल ने अभी हाल ही मे अपनी आधिकारिक ई-पुस्तक निकली है जिससे आपको अपने ब्लॉग कि सर्च रैंकिंग को बढ़ाने मे काफ़ी मदद कर सकतें है। इसमे काफ़ी अच्छे टिप्स दिए है जिससे आपके ब्लॉग पर पाठक कि संख्या बढ़ाने मे आपको काफ़ी मदद मिलेगी। इसमे आपको कई सुझाव मिलेंगे जैसे...


अपना वेब पेज का शीर्षक आकर्षक कैसे बनायें,

वेब पेज के URL को आकर्षक कैसे बनायें

अपनी वेबसाइट या ब्लॉग का नैविगेशन सरल बनायें

स्तरीय और उपयोगी लेख लिखे आदि आदि...

नए चिट्ठाकारों के लिए ये ई-पुस्तक काफ़ी उपयोगी होगी।

गूगल की ई-पुस्तक को डाउनलोड करें

Thursday, November 20, 2008

ईमेल संकलन : पढ़े yahoo, gmail, hotmail ईमेल एक ही जगह पर

आप सभी के पास एक से अधिक ई मेल प्रयोक्तानाम (email id) तो ज़रूर होगी। कोई आपने स्कूल कॉलेज के दिनों मे बनाई होगी और कोई ऑफिस के इस्तेमाल के लिए तो कोई मित्रों के लिए। अब प्रश्न उठता है कि उसे आप कब खोलते है और पढ़तें है। कई ई मेल तो आपने काफ़ी दिनों से खोली ही नही होगी या हो सकता है आप अपने पुराने ईमेल को भूल भी गए हों। यदि सारे ईमेल ईद आपको एक ही स्थान पर मिल जाए तो कैसा रहेगा? तब आपको अपनी अलग अलग ईमेल आई डी को नियमित लोग इन नही करना पड़ेगा और आपको अपनी सारी ईमेल एक ही जगह पर पढने को मिल जायेंगी। ये काम आसान हो जाता है ईमेल संकलनकर्ता (email aggregator) से। कई वेबसाइट है जो आपको आपकी विभिन्न ईमेल आई डी को एक जगह पर लाने का काम करतें है वो भी मुफ्त में। मान लीजिये आपकी ५-६ ईमेल आई डी है तो ऑनलाइन ईमेल संकलनकर्ता की वेबसाइट पर रजिस्टर हो जाईये और अपनी याहू, जीमेल, आदि सभी मेल को एक ही ईमेल बक्से मै प्राप्त कर और पढ़ सकते है।

यदि आपके पास ढेर सारी ईमेल आई डी है और आप उसे नियमित चेक नही कर पाते है तो निम्न किसी वेबसाइट मै रजिस्टर होकर अपनी अलग अलग सारी ईमेल को नियमित पढ़ सकते है।

Zenbe.com यह वेबसाइट बिल्कुल मुफ्त मै आपको सारी ईमेल को एक्सेस करने की सुविधा देती है, जैसे जीमेल, ऐओएल, याहू आदि यही नही इसके ज़रिये आप अन्य कई सुवधाओं का लाभ भी उठा सकतें है जैसे कैलेंडर, शुरूआती प्रष्ट, फाइलों की सूची, फेसबुक अपडेट इत्यादि।


Orgoo इस वेबसाइट मेरजिस्टर होकर आप ईमेल के अलावा sms को भी संकलित कर सकते है।

Fuser इस ईमेल संकलनकर्ता वेबसाइट मे आप अपने आउटलुक, जीमेल, याहू, नेट्स्केप के ईमेल के अलावा आप अपने facebook एवं myspace के संदेशो को एक ही जगह पर पढ़ सकते है और उनका उत्तर भी दे सकते है



TopicR इस वेबसाइट के ज़रिये आप अपने गाने, विडियो, फाइल्स आदि को अपलोड कर सकते है और उन्हें अपने मित्रों को लिंक भेज कर ऑनलाइन देखने के लिए कह सकतें है। उसके लिए आपके मित्र को फाइल डाउनलोड नही करना पड़ेगा। आप अपने ईमेल संदेश के साथ मे संगीत और slideshow भी भेज सकते है



इसी तरह की अन्य अच्छी साईट जो ईमेल संकलन की सुविधा देती है वे है - Jubii, Goowy,

तो अब देर किस बात की, अपने सभी ईमेल पते को एक जगह इकठ्ठा कीजिये और अपने सारे संदेशों को बिना झंझट के एक ही जगह पर पायें। फ़िर मिलता हूँ अगले पोस्ट मे , नई जानकारी के साथ ....

Thursday, October 16, 2008

गूगल टॉक की सहायता से हिन्दी मे टाइप कैसे करें?

क्या आप जानते है की गूगल टॉक के ज़रिये भी आप हिन्दी में टाइप कर सकते है। नही? तो चलिए मैं बताता हूँ। बहुत ही आसान है और यह सुविधा गूगल के ट्रांसलिटरेशन बोट की सहायता से मिलती है। इसके लिए आपको सिर्फ़ अपने गूगल टॉक मे एक नया बडी (Buddy/contact) जोड़ना होगा । en2hi.translit@bot.talk.google.com को अपने मित्र सूची मे जोड़ दे बस अब जो भी टाइप करना हो इस मित्र को क्लिक करें और sms भेजने के लिए आप जैसे टाइप अंग्रेजी अक्षर टाइप करते हैं उसी तरह टाइप करें, Enter key दबाते ही आपका वाक्य हिन्दी मे परिवर्तित हो जाएगा। है न आसान? इस सिविधा के ज़रिये आप इन्टरनेट मे कहीं भी हिन्दी को Copy and Paste करके इस्तेमाल कर सकते है।

Sunday, October 5, 2008

औजार : किसी भी ऑनलाइन वेब पेज पर हिन्दी में लिखे.

दोस्तों कल ही मे एक हिन्दी ब्लॉग को पढ़ रहा था। उसपर टिपण्णी करने के लिए टाइप किया तो इंलिश में ही टाइप हो रहा था पर मै हिन्दी मे टिपण्णी करना चाहता था। क्या करूँ कुछ सूझ नही रहा था कि लोग हिन्दी मै कैसे टिपियाते है। तो ऑक्सीजन मास्क पहना और उतर गया संजाल के समुंदर में और उसका उपाय ढूँढ निकला । अब मुझे किसी भी ऑनलाइन वेब पेज पर हिन्दी या अंग्रेजी किसी भी भाषा मै टाइप करने की दिक्कत नही होगी। यह सुविधा लाये है एकया (Ekya- Unity in Diversity). अब आप भी एकया के द्बारा उपलब्ध बटन कि सहायता से हिन्दी, तमिल, तेलुगु, कन्नड़, एवं मलयालम किसी भी भाषा मै ऑनलाइन वेब पेज पर लिख सकते है। उसके लिए आपको सिर्फ़ एक बटन को खींच कर बुकमार्क टूलबार पर ले जाना है बस। जब आपको अंग्रेजी मै टिपण्णी करनी हो तो सिर्फ़ ctrl + G दबा कर तोग्ग्ल करना होगा। है न आसान । तो फ़िर देर किस बात की फटाफट एक्य को टूलबार मै शामिल कर लीजिये वोह भी बिल्कुल मुफ्त।

Friday, October 3, 2008

चलिए आज सबसे पहले आपको बताते है कि हिन्दी मै ब्लॉग कैसे बनाया जाए। यदि आप सर्फिंग करते हुए इस ब्लॉग तक पहुंचे है और आप हिन्दी में ब्लॉग बनाना चाहते है तो आप सही जगह पर आ गए है। मै आपको हिन्दी में ब्लॉग बनने कि पूरी प्रक्रिया विस्तार से बताऊंगा।

सबसे पहले एह बता दूँ कि ब्लॉग क्या होता है। ब्लॉग जिसे हिन्दी में चिटठा कहते है, एक व्यक्तिगत ऑनलाइन डायरी होती है । इसे आप व्यक्तिगत वेबसाइट भी कह सकते है। इसमे आप जो भी चाहे लिख सकते है जिसे पूरी दुनिया आपके ब्लॉग के पते के जरिये से ऑनलाइन पढ़ सकती है। आप चाहे तो चिटठा अपने पसंदीदा विषय पर, या फ़िर दिअरी के रूप में बना सकते है। ब्लॉग कि सबसे बड़ी खासियत ये है कि इसे आप अपना लेख लिख कर तुंरत छाप सकते है और इसे तुंरत दुनिया के किसी भी कोने से पढ़ा जा सकता है। ब्लॉग इसके लिए आपको किसी वेब मास्टर या विशेष तकनिकी ज्ञान कि आवश्यकता नही होती। यदि आपको इन्टरनेट ( संजाल) का प्रारंभिक ज्ञान है तो आप अपना ब्लॉग आसानी से बना सकते है। ब्लॉग बनने के लिए आपको कोई खर्च भी नही करना पड़ता है क्यूंकि बहुत सारी वेबसाइट आपके ब्लॉग को फ्री होस्ट करती है। जैसे ब्लॉगर, वर्डप्रेस, इत्यादी ।

यूँ तो ब्लॉग किसी भी मुफ्त ब्लॉग प्रदाता वेबसाइट पर बनाया जा सकता है पर संजाल में सबसे ज़्यादा लोकप्रिय ब्लॉगर और वर्डप्रेस है। यहाँ मै आपको ब्लॉगर में ब्लॉग बनने कि प्रक्रिया बताता हूँ। केवल तीन चरणों में आपको ब्लॉग तैयार हो जाएगा


  1. www.blogger.com पर जायें। ऊपर दाहिनी तरफ़ language (भाषा) को अंग्रेजी से बदल कर हिन्दी में कर ले . साइन इन कि प्रक्रिया शुरू करे । यदि आपका पहले से गूगल कि प्रयोक्ता नाम है तो उसे इस्तेमाल करके साइन इन करे अथवा गूगल पर नया प्रयोक्ता नाम रजिस्टर करे। फ़िर ब्लॉगर में लोंग इन करें
  2. एक ब्लॉग बनाये (create a blog) विकल्प पर जायें आपसे ब्लॉग का शीर्षक और ब्लॉग का पता चुनने को कहाजाएगा आप अपने पसंद का शीर्षक और ब्लॉग का पता चुने ब्लॉग का पता यदि अनुपलब्ध हो तो कोई दूसरापता चुन कर आगे बढे
  1. अब आप ब्लॉगर में पहले से दिए हुए विभिन्न ब्लॉग पन्ने कि डिजाईन (templates) में से कोई एक चुन ले। आप तुंरत लेख लिख सकते है और उसे छाप सकते है जोकि तुंरत ऑनलाइन छप जाएगा।
लीजिये हो गया आपका ब्लॉग तैयार। अब आप डैशबोर्ड में जाकर सेटिंग सेक्शन में जायें । ब्लॉगर में आप पाँच भारतीय भाषा में blog बना सकते है। तमिल, तेलुगु, कन्नड़, मलयालम, एवं हिन्दी।

इसके लिए सेटिंग्स में जायें, मूलभूत सेटिंग्स में ग्लोबल सेटिंग्स में जाए , लिप्यांतरण (Transliteration) सक्षम करे में हिन्दी भाषा को सक्षम करे। और इसे सहेज (save) दे


तो देर किस बात कि बस शुरू हो जाईये, बनाईये अपना एक blog (चिटठा ) बनाये और दुनिया को पढाएं